|

SEO क्या है और सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन कैसे करते है ?

अगर किसी को internet की दुनिया में career बनाना है या फिर सोच रहे है तो वेबसाइट बनाना और उसको optimize करना तो जरुर सिखा है जो की इस फील्ड में एक पहला कदम है, लेकिन जब बात आती है अपने किसी भी सर्विस या फिर कंटेंट को लोगो तक पहुचने की तो उसके लिए seo ही एकमात्र हथियार है जिससे हम अपने quality content को लोगो के search result में ला सकते है |

जब भी हम पहली बार search engine optimization का नाम सुनते है तो हर किसी के मन में ये सवाल जरुर आता है की
seo क्या है, seo kaise kre, seo full form क्या है , seo tool क्या होते है, seo क्यों जरुरी है, better seo के क्या फायदे है आदि आदि | तो बने रहे हमारे इस ब्लॉग पर और हम आपको बताएँगे की what is SEO और किसी भी ब्लॉग के लिए seo friendly post कैसे लिखे|

SEO क्या है – what is seo in hindi:

SEO यानी search engine optimization का अर्थ है

किसी website के informative content या service को अच्छे से optimize करके ज्यादा से ज्यादा लोगो तक पहुचाने के लिए search result में rank करवाना |

search engine optimization का basic मतलब ही यही होता है की अपनी सर्विस या फिर blog को उचित जानकारी के साथ सही ढंग से व्यवस्थित करके लोगो की जरूरत पूरी करने के लिए उपलब्ध करना| यानि की आपने जो भी information लोगो को देनी है जो की उनकी किसी भी जरुरत को पूरी करेगी को एक उचित तरीके से और point to point बताना ही seo की मुख्य परिभाषा है |google serp में अपने blog को rank करवाने के लिए आपको अपने ब्लॉग को ज्यादा से ज्यादा informative बनाना होगा जिससे की user आपके ब्लॉग को छोड़ कर दुसरे पर ना जाये |

google serp results

दुसरे शब्दों में कहे तो जब भी हम google में कुछ search करते है तो search result के रूप में sites के लिंक मिलते है जिसमे आपके सर्च के related content होता है, और जो भी साईट सबसे ऊपर होती है उसमे कुल ट्रैफिक का 70% विजिट करता है तो इसी प्रकार जब आप अपने कंटेंट को seo के according लिखते है तो गूगल आपकी साईट को search result में फर्स्ट पोजीशन देगा जिससे आपकी साईट पर ट्रैफिक बढेगा और आपकी earning भी बढ़ेगी |

SEO क्यों जरुरी है ?

हर कोई चाहता है की उसका लिखा कंटेंट या फिर उसकी सर्विस ज्यादा से जयादा लोगो को show और ज्यादा से ज्यादा traffic search engine से उसकी site पर आये जिससे की अछि खासी earning कर सके | इसी कारण अपने ब्लॉग पोस्ट को एक आचे structure और व्यवस्थित करना ही seo है, जिससे जब भी google bot आपकी साईट को crawl करता है तो जब आपका कंटेंट उसको informational लगता है तो वो उसको search रिजल्ट में अछि रैंकिंग देता है और इसी प्रकार आपकी साईट पर ट्रैफिक आता है |

blog पोस्ट को अछे से लिखने के लिए कुछ रूल्स होते है जिनको आपको follow करना पड़ता है जिसे में अपनी अगली पोस्ट में बताऊंगा.

SEO के प्रकार – Type of SEO:

मुख्यत seo 3 प्रकार के होते है जो की वेबसाइट को रैंक करने के लिए बहुत ही जरुरी है |
1. On page SEO
2. Off page SEO
3. Local SEO

what is seo in hindi

अगर आपकी एक blogging website है तो आपको पहले 2 seo की बहुत जरुरत पड़ने वाली है जिसके बगेर आपकी साईट google में बिलकुल भी rank नहीं करेगी, और अगर आपका कोई लोकल बिज़नस है तो आपको customer लेन के लिए Local seo करना ही पड़ेगा |

1. On page SEO:

जैसा की नाम से ही लग रहा है की इसमें आपकी अपने blog की reliability और पोस्ट(post page) का seo करना होता है जिसमे आपको वो सभी पॉइंट ध्यान में रखना है है जिससे की विजिटर को आपकी साईट में कोई प्रॉब्लम न हो |
on page seo दो तरीके से किया जाता है :
1. Blog and post layout seo
2. Post seo (ये नाम कोई official नही है बस केवल आपको समझाने के लिए उपयोग किये गए है

1. Blog and post layout seo :

जहा तक बात करे वेबसाइट की तो अगर आपका ब्लॉग या वेबसाइट का लेआउट और स्पीड अच्छा है तो आपका कुल एस.सी.ओ. का 50%  काम हो जायेगा | अत: आपको इसका मुख्य रूप से ध्यान रखना होगा |
निम्न पॉइंट आपके seo को प्रभावित करेंगे:

Website Speed : अगर आपने अपनी वेबसाइट में content अच्छा लिखा है और अछे से keyword place किया लेकिन आपने अपनी वेबसाइट की स्पीड पर धयान नही  है तो ये बात तो भूल ही जाओ की आपकी साईट कभी रैंक भी होगी, क्योकि google सदेव उन्ही साईट को  top पर show कराता है जिनकी लोडिंग स्पीड कम हो, और loading speed को कम करने के लिए आपको पेज साइज़ कम करनी पड़ेगी जिसके लिए आपको एक अचक्के थीम को सेलेक्ट करना होगा |

हम website speed को कैसे बढ़ा कर सकते है ?

  1. स्पीड का मुख्य कारण Hosting ही होता है अगर आपकी होस्टिंग का responce time ज्यादा है तो आपके लिए ये point किसी काम के नहीं है इसलिए किसी अच्छी होस्टिंग का चुनाव करे |
  2. आपको अपनी वेबसाइट की स्पीड कम करने के लिए सबसे पहले एक अछे थीम का चुनाव करना होगा जिसके अछे review हो और पेज साइज़ भी कम हो |
  3. कम से कम plugin का उपयोग करे और एक्स्ट्रा plugin को डिलीट कर दे |
  4. अछे कैश plugin का उपयोग करे |
  5. फोटो को use करने से पहले optimize कर ले या फिर image optimization plugin का उपयोग करे |
  6. जहा तक हो सके simple layout का ही उपयोग करे | ज्यादा डिजाईन से पेज साइज़ बढ़ जाता है जिससे स्पीड पर प्रभाव पड़ता है |
  7. अगर आप कुछ पैसा इन्वेस्ट कर सकते है तो आप एक cdn नेटवर्क का उपयोग करे जिससे आपके image, css जैसी long request वाली फाइल तुरंत ही लोड हो जाएगी. अगर आप इसे यूज़ नही करना चाह्ते तो आप jetpack का इस्तेमाल कर सकते है जो कुछ हद तक आपकी स्पीड बढ़ा देगा |

website layout : आजकल google वेबसाइट के layout पर ज्यादा ध्यान देने लग गया है तो अगर आपकी website में सबी पेज और पोस्ट पर जाने के लिए सही से navigation नहीं है तो हो सकता है की गूगल उसको रैंक करने में कम priority दे | इसके लिए आपको निम्न बातो का धयान रखना होगा :

  1. home पेज पर आपकी मुख्य category या pages का लिंक हो, इसके किये आप मेनू बनाकर इसमें अपनी category और pages का लिंक दे सकते है |
  2. सिंगल पोस्ट में next व previous पोस्ट का लिंक जरुर हो |
  3. आपका पेज mobile फ्रेंडली हो |

2. Post SEO :

पोस्ट Seo का अर्थ है की अपनी पोस्ट को अछे से heading दाल कर और और जिस भी keyword पर आपकी पोस्ट है उसको ठीक से place करके एक user impression के according पोस्ट तैयार करे | इसके लिए आप seo plugin rank math का उपयोग कर सकते है जो की आपको पूरी information दे देगा की कैसे और कहा keyword use करना है और कैसा content लिखना है |
कोई भी पोस्ट लिखने से पहले उसका keyword research करना बहुत ही जरुरी है क्योकि आप वो ही पोस्ट लिखेंगे जिसको लोग google पर सर्च करते है | क्योकि जब किसी के वर्ड पर ज्यादा सर्च होंगे तब ही आपकी website पर traffic आएगा और आपकी site rank होगी |

SEO Friendly Post कैसे लिखे ?

google serp में अपनी साईट को rank करने के लिए आपको user friendly post लिखना बहुत ही जरुरी है जिसके लिए आपको निम्न बातो का धयान रखना होगा :

  1. Post title को सदैव attractive रखे ताकि जब भी कोई उसे देखे तो क्लिक जरुर करे इससे आपको website impression पर बहुत प्रभाव पड़ता है |
  2. अपने keyword को first heading में अवश्य इस्तेमाल करे |
  3. content 900 word minimum होना ही चाहिए |
  4. first पेराग्राफ में अपने keyword से रिलेटेड जानकारी अवश्य दे क्योकि गूगल फर्स्ट paragraph को excerpt के रूप में crawl करता है |
  5. कम से कम 4 heading का उपयोग करे |
  6. content readability के लिए table of content का इस्तेमाल करे |
  7. आपको किसी वर्ड पर external linking भी करनी होगी जिसके लिए आप किसी Popular website का link दे सकते है |
  8. अपने कंटेंट में जहा तक हो सके इमेज का उपयोग करे और image ALT text इस्तेमाल करे |
  9. featured image को eye cache बनाये जिससे की विजिटर को पता लग जाये की यह पोस्ट किस बारे में है |
  10. पोस्ट में related post व social share का लिंक भी दे जिससे page view पर इम्पैक्ट पड़ेगा |

2. Off page SEO :

अगर आपने सही से on page seo कर लिया तो अब बारी है off page seo की, मतलब यह वो step होता है जिसमे किसी external sorceress से आपकी साईट पर link juice आता है | मतलब की आपको अपनी साईट का लिंक किसी भी तरीके से यूजर तक पहुचाना होता है. यह कई प्रकार से कर सकते है :

Search engine link submission :

user तक post की link पहुचाने का यह सबसे साधारण तरीका है जिसमे आपको अनेक google, Yahoo, Bing जैसे search engine के webmaster tool के माध्यम से अपनी वेबसाइट को पब्लिश करना होता है जिससे की आपकी वेबसाइट search result में show हो सके |

search engine में अपनी लिंक शो करने के लिए सबसे पहले आपको उस के webmaster tool में login करना होगा और अपनी साईट को verify करना होगा | इसके बाद अपने साईट के sitemap की लिंक को इसमें इंटर क्र देना होगा और इस प्रकार आपकी हर पोस्ट index होना चालू हो जाएगी |

Backlinks :

किसी भी ब्लॉग की authority और trust केवल उसके quality backlink और refering domain से होता है | क्योकि अगर आपने किसी अछे DA Pa वाली website से dofollow backlink लिया है तो आपको इससे न केवल traffic का फायदा होगा बल्कि इससे google आपको backlink provider website से compare करेगा जिससे आपका domain authority score बढेगा और गूगल आपकी साईट को जल्दी crawl करके search result में show करेगा

लेकिन जब आप किसी high spam score वाली वेबसाइट से backlink बनाते है तो आपका भी spam score बढ़ जायेगा और गूगल आपकी ranking को डाउन क्र देगा | अत सदैव अछी DA PA वाली वेबसाइट से ही backlink बनाये |

social media submission :

social media traffic किसी भी वेबसाइट के लिए एक traffic boom की तरह होता है | अगर आपने अपनी पोस्ट का title अच्छा रखा है और अछे से description लिखा है और किसी एक्टिव सोशल मीडिया ग्रुप में लिंक को शेयर किया है तो आपको उस पेज पर जरुर ट्रैफिक मिलेगा |

जब भी आप कोई नई post लिखे तो उसे सभी सोशल मीडिया में जरुर शेयर करे जिससे आपको एक अच्छा खासा social media traffic मिले | इसके लिए आप automatic social share plugin का भी उपयोग कर सकते है |

Local seo :

local seo किसी local area में अपने business, store या website को show करने के लिए किया जाता है | इसमें आपको एक target audience को धयान में रख कर किया जाता है | इसके लिए आप सोशल मीडिया पर एक निश्चित audience को select करके advertisement कर सकते है जिससे आपको एक अच्छा खासा local area popularity मिल जाता है |

इस प्रकार के seo के लिए आप google map में अपने business को लिस्ट कर सकते है या फिर facebook, instagram में AD चला सकते है. इसके अलावा आप google AD run कर सकते है जिससे आपको बहुत कम invest में ज्यादा traffic मिल सकता है |

SEO हिंदी में :

दोस्तों जहा तक basic seo की बात आती है मैंने इस artical में सब कुछ बता दिया है | और अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आये तो में  advance seo के बारे में जल्द ही एक आर्टिकल और publish कर दूंगा |

सीधे शब्दों में बात करे तो ज्यादा से ज्याद लोगो तक अपनी वेबसाइट को पहुचने के लिए किये गये काम को ही seo कहते है |यह मैंने बहुत ही साधारण explain किया है ताकि हर beginner आसानी से समझ सके |

अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आये तो please अपने दोस्तों को जरुर शेयर करे |

शेयर करे :

Leave a Comment