CMS क्या है ? CMS full form in Hindi

हम जब भी नया वेबसाइट या ब्लॉग बनाने की सोचते है या फिर बनाते है तो हमारे c panel या फिर होस्टिंग के control पैनल में बहुत सारे आप्शन देखते है जिनमे website deploy के option में CMS, wordpress, jumla आदि विकल्प भी देखने को मिलते है ।

अक्सर हम वर्डप्रेस का उपयोग वेबसाइट बनाने के लिए करते है लेकिन हमे वेबसाइट बनाने के अन्य आप्शन जो की हमारी होस्टिंग provide करती है के बार मे भी जान लेना चाहिये और आज हम CMS के बारे मे बात करने वाले है। क्युकी CMS मे यदि आप वेबसाइट बनाते हो और CMS का उपयोग नहीं करते तो कोडिंग करने मे काफी समय की बर्बादी होती है।

तो चलिए दोस्तों अब हम CMS full form, CMS kya hai?, CMS full form in Hindi, CMS meaning आदि समझते है।

CMS क्या है ?

CMS का फूल फॉर्म Content Management System है। यह एक ऐसा प्लेटफॉर्म है जिसका उपयोग अधिकान्स डायनामिक वेबसाइट बनाने मे होता है। इसकी मदद से websites और अनेक प्रकार के software बनाये जाते है ।

कोई अच्छी सी वेबसाइट बनानी है तो आपको Content Management System जानना जरूरी है।

cms kya hai in hindi

CMS full form in Hindi

CMS का हिन्दी भाषा मे फूल फॉर्म “कंटेंट मैनेजमेंट सिस्टम” होता है। यह वेब पेज के कंटेंट के निर्माण और संशोधित करने के लिए एक आसान यूज़र इंटर फ़ेस बनाता है।

CMS meaning in Hindi

cms full form “content Management System” को एक-एक करके इनका अर्थ समझते है।

1) content का अर्थ

कंटेन्ट नाम से हम कह सकते है की यह एक प्रकार की डिजिटल सामग्री है। जिससे हम इंटरनेट के माध्यम से किसी user तक पहुँचाया जाए।

2) Management का अर्थ

Management यानि की संचालन। जो भी Content इंटरनेट द्वारा विश्व मे सभी जगह प्रकाशित करना चाहते हैं उसे सही प्रकार से मैनेज करना आवश्यक है क्योंकि आपका Content काफी बड़ी मात्रा में होगा या होता है

यदि हम मैनिज्मन्ट नहीं कर पाएंगे तो हमारा कंटेन्ट हर किसी के पास नहीं पहुँच पाएगा।

3) System का अर्थ

System का हिन्दी भाषा मे अर्थ प्रणाली होता है। यानि की Manage किये गए Content को सही प्रकार से काम करने देना। इसी को हम सिस्टम कहते है।

CMS के प्रकार कौनसे है?

CMS के मुख्य प्रकार निम्नलिखित है:

  1. Web Content Management System (वेब कंटेंट मैनेजमेंट सिस्टम)
  2. Digital Asset Management System (डिजिटल एसेट मैनेजमेंट सिस्टम)
  3. Documents Management System (डॉक्युमेंट्स मैनेजमेंट सिस्टम)
  4. Enterprise Content Management System (एंटरप्राइज कंटेंट मैनेजमेंट सिस्टम)

1) वेब कंटेंट मैनेजमेंट सिस्टम

वेब कंटेंट मैनेजमेंट सिस्टम मे एक ऐसा Management सिस्टम होता है, जिसमें Company अपने ज्यादातर Content को इंटरनेट पर प्रकाशित करती है।

मतलब उस कंपनी के जो पुराने प्रोडक्ट हैं उनको Internet पर अपडेट करना साथ ही नई Guideline जारी करना उन प्रोडक्ट के बारे में इसके लिए Web Content Management System का प्रयोग किया जाता है।

2) डिजिटल एसेट मैनेजमेंट सिस्टम

यह सिस्टम का उपयोग अधिकांश Digital Media और Graphic Designing जैसे कार्यों मे होता है क्युकी इसमें वेबसाइट का कंटेंट के साथ ही ADS ग्रुप और सोशल मीडिया को भी जोड़ा जाता है।

3) एंटरप्राइज कंटेंट मैनेजमेंट सिस्टम

इस मैनिज्मन्ट प्रणाली मे किसी भी Enterprise की मेल सर्विस, फाइल और अन्य महत्वपूर्ण Electronic Documents को प्रबंधित किया जाता है।

4) डॉक्युमेंट्स मैनेजमेंट सिस्टम

इसके नाम से ही पता चलता है की यह इंटरनेट की दुनिया के जरूरी डॉक्यूमेंट को संचालित करता होगा। इंटरनेट के जरूरी फाइल जैसे Words, PDF, Excel, PPT आदि के प्रबंधन के लिए बेहतर माना जाता है

इसके अलावा यह सिस्टम नियंत्रित करता है कि कौन Documents को अपडेट कर सकता है साथ ही कौन इन Documents को एक्सेस कर सकता है।

CMS के कार्यों क्या क्या है ?

आपने अब तक इस पोस्ट में जाना की cms कितने प्रकार का होता है और cms का full form क्या है तो अब बात करते है cms के क्या कार्य है या फिर cms का उपयोग किस लिये किया जाता है ।

Admin Panel

यह सिस्टम किसी भी वेबसाइट में एक Admin Panel बनाता है जिसकी वजह से creator को बहुत ज्यादा फायदा मिलता है।

इससे Website User को Admin Panel के द्वारा आप अपनी वेबसाइट के हर Part को Manage करने मे सरलता रहती है।

Content Create

इसका काम ही है कि वह वेबसाइट में कंटेन्ट को बनाता करता है। हम जब भी हमारी वेबसाइट में कोई भी कंटेंट लिखते हैं तो वह इसको अपने आप Create कर लेता है।

Support Multiple User

इस फ़ीचर का उपयोग करके हम एक admin से सिवा अन्य बहुत सारे उपभोक्ता यानि की Multiple Users बना सकते है।

इनमें दूसरे किसी व्यक्ति को Admin नहीं बना सकता परन्तु वह चाहता है कि कोई दूसरा व्यक्ति उस वेबसाइट पर कार्य करें तो ऐसे में Admin एक “User Create” करके उस व्यक्ति को “Authentication” दे देता है।

एक नहीं बल्कि बहुत सारे User सीएमएस Platform पर बनाये जा सकते हैं यानि की कंटेन्ट कोई भी चुना हुआ व्यक्ति लिख सकता है।

Content Publish

Content Publish सरल भाषा मे कहे तो आप अपनी वेबसाइट पर कोई Content Publish करना चाहते हैं तो इसमें सीएमएस (CMS) आपकी पूरी हेल्प करता है क्योंकि आपको बस अपनी Post या Content को Website में पोस्ट करना है और सीएमएस (CMS) अपने आप उसको लाइव कर देगा।

Non Technical Support

इसका ज्यादा use होना Non Technical Support है क्युकी इसी प्लेटफॉर्म पर बने wordpress का उपयोग करके आप-हम जैसे नॉन -टेक्निकल व्यक्ति भी वेबसाइट बना पा रहे हैं ।

हमने अब तक CMS full form से इसके कार्यों के बारे मे पढ़ा अब हम CMS के सॉफ्टवेयर के बारे मे जानेंगे।

CMS Softwares की जानकारी

इसके बहुत ऐसे सॉफ्टवेयर है जिसे तकरीबन सभी टेक्निकल और इंटरनेट से जुड़े ब्लॉगिंग दुनिया से जुड़े लोग जानते है क्युकी यह Free Open Source Content Management System है और GNU (General Public Licence) के हिसाब से इसे मुफ़्त मे उपयोग किया जा सकता है।

इसके मुख्य सॉफ्टवेयर को हमने नीचे पूर्ण जानकारी के साथ बताया है:

  • WordPress
  • Joomla
  • Drupal

1) WordPress

WordPress पूरे विश्व का सबसे ज्यादा लोकप्रिय CMS सॉफ्टवेयर है। हम हमारी fullformstar साइट भी वर्डप्रेस पर ही चला रहे है। इनमें हम News Website, Blogs, Images Website, technical, non technical आदि साइट बना सकते है।

किसी भी वेबसाइट को बनाने के लिए CMS Software का उपयोग होता है। इसे आधुनिक तरीके से बनाया गया है और इसमें हजारों Plugins की वजह से कोई भी कार्य आसानी से कर सकते है।

वर्ष 2019 के आकड़ों पर को देखे तो WordPress को 4.5 करोड़ से भी ज्यादा Download किया गया था और 2020 मे इससे भी ज्यादा डाउनलोड हुआ होगा ऐसा अनुमान लगाया जा रहा है।

2) Joomla

joomla का उपयोग करके 2 Million से भी ज्यादा लोगों ने Website बनाई है। यह WordPress के बाद दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा CMS सॉफ्टवेयर है।

joomla एक Open Source Content Management System आधुनिक और गतिशील वेबसाइट बनाने के लिए उपयोग की जाती है। Site चलाने वाले व्यक्ति के लिए Content Management को आसान बनने के लिए Joomla आपकी वेबसाइट को MySQL, MySQLi या PostgreSQL का Use करके Database से जोड़ता है।

3) Drupal

Drupal Global Community, Government, Higher Education Institutions और NGOs के लिए सबसे अच्छा सॉफ्टवेयर माना जाता है।

इस प्लेटफॉर्म का उपयोग करके आप GNU (General Public Licence) की वजह से फ्री में उपयोग कर सकते है और यह PHP भाषा में कोडिंग किया गया है।

अंतिम बात

हमारी fullformstar टीम आशा रखती है की आपको CMS के बारे मे a to z information समझ मे आई होगी।

हमने CMS full form, CMS kya hai?, CMS full form in Hindi, CMS meaning,CMS के कार्यों जाना।

यह पोस्ट कैसी लगी और आपको CMS फूल फॉर्म के बारे मे और कुछ पूछना है तो नीचे comment ज़रूर करे, हम इसका अवश्य उत्तर देंगे। इस पोस्ट को आप facebook, telegram, Whatsapp, instagram पर भी ज़रूर share करे।

दोस्तों को भेजें

मेरा नाम subhash dhaka है। मैं हर दिन देश दुनिया, blogging और internet से जुडी जानकारी मेरे इस ब्लॉग hindihelps.com पर upload करता रहता हु।

आपके लिए सम्बंधित लेख



Leave a Comment