DM का फुल फॉर्म क्या है? – DM full form in Hindi

दोस्तों क्या आप DM full form खोज रहे थे? DM का हिंदी में फूल फॉर्म क्या है, DM के काम क्या होते है, DM कैसे बन सके और DM के लिए कौन सी परीक्षा देना पड़ेगा जानिए पूरी जानकारी हिंदी में।

क्या आप जानते है अक्सर सभी बड़े छोटे सरकारी और private परीक्षा में DM का फूल फॉर्म पूछा जाता है। अक्सर परीक्षा में आप DM full form याद नहीं आती है। फिकर मत करो, इस पोस्ट को पढ़ने के बाद आप कभी भी DM के फुल फॉर्म कभी भी नहीं भूल जाओगे। चलिए जानते है dm ki full form के बारे में ।

DM full form क्या है?

DM का फुल फॉर्म District Magistrate” या जिले-पाल होता है जिसे कलेक्टर भी कहा जाता है ।

DM full form DM के अन्य फुल फॉर्म –

  • District Magistrate
  • District Collector
  • Deputy Commissioner

DM फूल फॉर्म हिंदी में

DM का फूल फॉर्म हिंदी में बोला जाए तो इसे जिलेपाल बोला जाता है। जिलेपाल को और भी जिले अधिकारी, कलेक्टर और डिप्टी कमिशनर बोला जाता है।

जिलेपाल (DM) कौन होता है?

जैसे आप जानते है हमारे देश में सभी राज्यों को कुछ जिले में बाँटा गया है। इन जिलों को परिचालन करने के लिए एक adminstrative officer का पद बनाया गया है। इस पद को District Magistrate पोस्ट बताया जाता है।

कलेक्टर एक IAS अफ़सर होते है जिनके पास उस जिले का सभी प्रशासनिक कंट्रोल होता है।

dm full form
dm full form

DM के पद का इतिहास (History of DM)

दोस्तो DM के पद सबसे पहले ब्रिटिश शासन में सृजन किया गया था। सन 1772 में Warren Hastings DM के पद का आरंभ किए थे। उसके बाद भारत के पहले DM, Romesh Chandra Dutt बने थे।

भारत के स्वतंत्रता के बाद संविधान में पुराने DM के काम और पॉवर को बरकरार रखा गया। अभी का DM और पुरानी DM मे थोड़ा सा बदलाव हुआ है। अब तक हमने District Magistrat के बारे मे जाना तो चलिए अब जानते है DM के काम क्या होते है।

DM Officer का काम क्या है?

जैसे की मैने आपको बताया की एक DM अफ़सर उस जिले के प्रसासनिक मुखिया होते है। इसलिए उनके पास उस जिले का सभी प्रसाशनिक कंट्रोल होता है। उसके अलावा बहुत महत्व पूर्ण काम होते है जैसे:

  • उस जिले का पुलिस को कंट्रोल करना
  • जिले में कहीं पे भी law and order परिस्थिति ना बिगड़ने देना ।
  • जाति फाॅर्स जैसे आर्मी को बुलाना
  • Child labor को रोकना
  • Revenue कोर्ट को बुलाना
  • जिले का Revenue टैक्स संग्रह करना
  • जिले में इनकम टैक्स,GST जैसे टैक्स का संग्रह करना
  • आपात काल के समय जिले में रिलिफ कार्य का आयोजन करना
  • सभी तहसील के अंदर co-ordination स्थापित करना
  • लोगो को कोई भी Cast का प्रमाण-पत्र जारी करना
  • किसी भी area पर कर्फ्यू अथवा 144 धारा लगाना

Collector (DM) कैसे बने?

भारत का कोई भी नागरिक Collector बन सकता है। इसके लिए आपको UPSC परीक्षा में उत्तीर्ण होना पड़ेगा। UPSC परीक्षा में उत्तीर्ण होने के लिए आपको कठिन परिश्रम करना पड़ेगा। इसमें Top करने वाले applicant केवल आगे की प्रक्रिया के लिए eligible होंगे।

UPSC में अच्छे rank रखने के बाद आपका 2-3 personal इंटरव्यू लिए जाएंगे। interview में अच्छे करने के बाद आपको IAS अफ़सर बना दिए जाएंगे।

आप IAS बनने के बाद 1 से दो साल तक राज्य सरकारों के अंदर कोई भी पोस्ट में नियुक्त किए जाएँगे। कुछ दिनों के बाद जब राज्य सरकार को लगेगा की आप DM पोस्ट के लिए एलिजिबल हो गए है तो वो आपको DM पोस्ट के लिए प्रोमोशन कर देंगे।

DM के Selection प्रणाली

दोस्तों कोई भी जिले का DM बनना आसान काम नहीं होता है। इसके लिए आपको केंद्र सरकार के द्वारा conduct किए गए UPSC परीक्षा में उत्तीर्ण होना होगा।

UPSC में सबसे पहले आपको Prilims परीक्षा में अच्छे रैंक स्कोर करना होगा। इस परीक्षा में आपका General Ability टेस्ट किए जाते है।

इसके बाद आपको UPSC का Main परीक्षा देना होगा। ये exam सबसे कठिन होता है। इसमें आपको कठिन से कठिन सवाल किए जाते है। Main exam में आपको subjective परीक्षा भी देना पड़ता है। इस स्टेज को clear कर दोगे तो मानलो आपका आधा काम हो गया।

Main Exam के बाद अंत में एक Personal और face to face interview होता है। इसमें आपका Confidence level, Pressure हैंडल ability और अनेक तथ्य test किए जाते है।

इन् तीनों स्टेज को पार करने के बाद आपका DM बनने का स्वप्न लगभग पूरा हो जाता है।

DM में विषय में FAQ

  1. DM का फुल फोर्म क्या है?

    DM फुल फॉर्म जिले District Magistrate यानि Collector होता है। हिंदी में बोले जिले अधिकारी।

  2. क्या एक DM जिले का पुलिस को कोई भी आदेश दे सकते है?

    जी हाँ, DM जिले के पुलिस को आदेश दे सकते है। क्युकी DM के पास उस जिले का प्रशासनिक खमता होती है।

  3. DM को कौन नियुक्त करते है?

    DM को राज्य सरकार नियुक्त करते है। जरुरत पड़ने पर राज्य सरकार DM का बदल कर सकते है।

  4. जिले में सेना को बुलाने की अधिकार किसके पास होती है?

    देश के कोई भी public place में सेना को बुलाने की अधिकार केवल DM के पास होती है। DM राज्य सरकार अथवा केंद्र सरकार के सहमति से सेना को बुला सकती है।

  5. जिले में कर्फ्यू कौन लगाती हे?

    जिले में law and order परिस्थिति को कंट्रोल में रखने के लिए DM अपने हिसाब से कर्फ्यू लगा सकते है और कर्फ्यू हटा भी सकते है।

  6. क्या DM बनने के लिए UPSC clear करना अनिवार्य है?

    हाँ, DM बनने के लिए आपको UPSC परीक्षा clear करना ज़रुरी है।

अंतिम बात

में जैसे आशा कर रहा हूँ आपको DM full form इंग्लिश और DM का फुल फॉर्म हिंदी में जान चुके होंगे। इसके साथ साथ आप कैसे DM बन सकते है और एक DM का Duty क्या होता है का पूरी ज्ञान प्राप्त हुआ है।

इसी तरह Knowledgeble जानकारी के लिए आप हमें Facebook और Twitter पे follow कर सकते है।

अगर ये लेख आपको अच्छा लगा तो अपने social handel में शेयर कीजिए। अगर आपका कोई भी सुझाव और doubt है तो नीचे Comment करने में मत सोचिए। आपका help करके हमें ख़ुशी होगी।

दोस्तों को भेजें

मेरा नाम Naveen है। मैं हर दिन देश दुनिया, blogging और internet से जुडी जानकारी मेरे इस ब्लॉग hindihelps.com पर upload करता रहता हु।

आपके लिए सम्बंधित लेख



Leave a Comment