Latest Posts
Loading...

CDO Full Form in Hindi सी.डी.ओ. कैसे बनें?

CDO Full Form in Hindi सी.डी.ओ. कैसे बनें?

CDO Full Form in Hindi सी.डी.ओ. कैसे बनें?

अगर आप CDO Full Form या सीडीओ कैसे बनें? के बारे जानकारी प्राप्त करना चाहते हो तो आप सही जगह हो। ये आर्टिकल आपके लिये ही है। हमारे देश में सही तरीके से विकास हो इसके लिये देश को कई हिस्सों में बांटा गया है जिन्हे हम राज्य कहते हैं और राज्यों को जिलो में बांटा गया है। राज्य की कमान राज्य के मुख्यमंत्री के हाथो में होती है और अलग अलग विभागों के लिये मंत्री बनाऐं जाते हैं जो कि अलग अलग विभागों का काम देखते हैं। ठीक ऐसे ही जिले की कमान जिलाधिकारी के हाथ में होती है। जिले में विकास के काम के लिये CDO का पद होता है जो कि विकास से जुड़े कार्य देखता है।

Read also


lol full form

LOL क्या है LOL Full Form & LOL...

trp kya hota hai

TRP Full Form – TV TRP क्या है...

cms kya hai in hindi

CMS क्या है ? CMS full form in...

CDO अपने जिले में जुड़े विकास कार्यों के लिये उत्तरदायी होता है। सरकार द्वारा हर जिले में एक अफसर नियुक्त किया जाता है जो कि सरकार द्वारा चलाई जा रही विकास संबधी योजनाओं को पात्रों के बीच पहुंचाने की एक विशेष कड़ी होता है।

जिले में होने वाले सभी विकास कार्य जैसे शिक्षा का विकास, परिवहन या सड़क का विकास व अन्य विकास संबधी योजनाऐं CDO के माध्यम से ही पूर्ण कराई जाती हैं।

CDO की फुल फॉर्म क्या है? CDO Full Form

CDO की फुल फॉर्म Chief Development Officer होती है। हिंदी में इसे मुख्य विकास अधिकारी कहा जाता है। यह पद काफी सीनियर पद होता होता है। CDO जिले के वरिष्ठतम अधिकारियों की श्रेणी में आता है।

CDO (मुख्य विकास अधिकारी) कैसे बनें?

CDO के पद के लिये लोक सेवा आयोग द्वारा परीक्षा आयोजित की जाती है। जिसके लिये किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से ग्रेजुऐशन की डिग्री प्राप्त व्यक्ति आवेदन कर सकता है। सी​डीओ की परीक्षा तीन चरणों प्रारंभिक परीक्षा, मुख्य परीक्षा और साक्षात्कार में विभाजित की गई है। तीनों चरणों सफलता प्राप्त करने वाले व्यक्ति को CDO के रूप में नियुक्त किया जाता है।

DM का फुल फॉर्म क्या है? – DM full form in Hindi
लोकतंत्र किसे कहते है? loktantra kise kahate hain ?
Cuims registration कैसे करें? । Cuims में स्टूडेंट Log In कैसे करे?

CDO बनने की योग्यता

CDO बनने के लिये कोई भी व्यक्ति भारत का नागरिक होना चाहिये। वहीं शैक्षिक योग्यता में सरकार द्वारा किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से कम से कम 50 प्रतिशत अंको के साथ स्नातक की डिग्री होनी चाहिये। वहीं CDO बनने के लिये 21 से 40 वर्ष तक व्यक्ति आवेदन कर सकता है। वहीं आरक्षित श्रेणी के अभ्यर्थियों को नियम के अनुसार छूट दी गई है।

CDO के कार्य क्या—क्या होते हैं

​किसी भी जिले के विकास के लिये सी​डीओ का पद बेहद जरूरी होता है। जिलो में शहरी व ग्रामीण इलाके के लिये डेवपलमेंट अफसर नियुक्त किये जाते हैं। जबकि CDO उन से वरिष्ठ होता है। किसी भी जिले में विकास के ​सी​डीओ पूर्ण रूप से जिम्मेदार होता है।

वह किसी भी विकास संबधी कार्य की समीक्षा करता है। संबधित अधिकारियों के साथ मीटिंग करता है। विकास कार्यों का ​समय समय पर निरीक्षण करता है। सी​डीओ अपने सीनियर अधिकारी और सरकार को रिपोर्ट भेजता है। CDO विकास संबधी किसी भी ढ़ील—ढ़ाल, लपरवाही, भ्रष्टाचार के लिये संबधित अधिकारी या कर्मचारी के खिलाफ कार्यवाही कर सकता है।

CDO का वेतन, भत्ते व अन्य सुविधाऐं

मुख्य विकास अधिकारी एक ​वरिष्ठ अधिकारी होता है। इसलिये शासन द्वारा उन्हें एक अच्छी सैलरी, भत्ते व सुविधाऐं दी जाती हैं। मुख्य विकास अधिकारी का वेतन 37400 से 67000 रूपये तक होता है। ये राज्यों के हिसाब से अलग अलग हो सकता है। इसके अतिरिक्त CDO को कई प्रकार के भत्ते दिये जाते हैं। CDO को गाड़ी, गाड़ी के लिये डीजल, पेट्रोल, मोबाइल फोन का खर्चा, इंटरनेट, बिजली बिल, स्वास्थ्य सेवाऐं, सुरक्षाकर्मी, आवास व अन्य सुविधाऐं दी जाती हैं।